Lok Sabha Elections 2019: Election Commission पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को बताया BJP का भाई

दीदी बनाम मोदी- हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट, संसद से लेकर सड़क तक, ऐसे चल रहा है शह-मात का खेल

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) के गुरुवार को चुनाव आयोग पर निशाना साधने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal CM Mamata Banerjee) ने भी सवाल उठाए हैं। ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग को बीजेपी का भाई बताया है।

बंगाल के मथुरापुर में ममता बनर्जी ने कहा कि बीती रात हमें पता चला कि बीजेपी ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है ताकि हम पीएम मोदी की रैली के बाद कोई सभा आयोजित न कर सकें। चुनाव आयोग बीजेपी का भाई है। पहले यह एक निष्पक्ष संस्था हुआ करती थी लेकिन अब यह बीजेपी के हाथों बिक गया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे दुख होता है, लेकिन मेरे पास कहने के लिए कुछ भी नहीं है। मैं यह कहने के लिए जेल जाने के लिए तैयार हूं। मैं सच कहने से नहीं डरती हूं।

इससे पहले मायावती ने गुरुवार सुबह कहा कि केंद्र सरकार अपनी विफलताओं से लोगों को अपना ध्यान बंटाने के लिए पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को निशाना बना रही है। मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री हाथ धोकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पीछे पर गये हैं जो लोकतंत्र के लिए खतरनाक प्रवृति को दर्शाता है जो उचित और न्याय संगत नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के इस घिनौना प्रयास का पश्चिम बंगाल की जनता चुनाव में जवाब देगी।

कांग्रेस ने भी साधा चुनाव आयोग पर निशाना
कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अध्यक्ष अमित शाह के इशारे पर काम करने का आरोप लगते हुए कहा है कि आयोग ने पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की दो रैलियों के बाद जिस तरह से चुनाव प्रचार पर निर्धारित समय से 24 घंटे पहले रोक लगाकर साबित कर दिया है कि यह स्वायत संस्थान अब अपनी विश्वसनीयता खो चुका है और आयोग की नियुक्ति प्रक्रिया पर नए सिरे से विचार करने की जरुरत है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने गुरुवार को यह पार्टी मुख्यालय में आयोजित विशेष संवाददाता सम्मलेन में कहा कि आयोग के काम करने के तरीके से साफ़ हो गया है कि वह लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा नहीं कर पा रहा है और सिर्फ मोदी तथा शाह के इशारे पर लाम कर रहा है।

LEAVE A REPLY