कठुआ मामले पर कोर्ट के फैसले से असंतुष्ट मां बोली- फांसी से कम सजा मंजूर नहीं

kathua rape case

कठुआ गैंग रेप मामले में अदालत के फैसले से मासूम के परिजन नाखुश दिखे। पीड़ित बच्ची की मां ने कहा कि सभी आरोपियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। फांसी से कम सजा मंजूर नहीं। उन्होंने कहा कि घटना के इतने दिनों के बाद भी उनकी बच्ची को सही इंसाफ नहीं मिला है। वहीं, राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कठुआ सामूहिक बलात्कार कांड के दोषियों को मौत की सजा देने की मांग करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर सरकार को ऊपरी अदालत में अपील करना चाहिए।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ में खानाबदोश समुदाय की आठ साल की बच्ची से बलात्कार और फिर उसकी हत्या कर दिए जाने के मामले में एक विशेष अदालत ने सोमवार को छह दोषियों में से तीन को उम्रकैद की सजा सुनाई है। इन तीनों के नाम सांजी राम, परवेश कुमार और दीपक खुजारिया है। इसके अलावा तीन अन्य को पांच साल की सजा सुनाई गई है। इससे पहले मुख्य आरोपी सांजीराम के बेटे (सातवें आरोपी) विशाल को बरी कर दिया गया।

सजा पाए लोगों के परिजनों ने अभद्रता की :

कठुआ सामूहिक बलात्कार एवं हत्या मामले में अदालत कक्ष के बाहर अभियोजन पक्ष के वकीलों से सजा पाए लोगों के परिवार के सदस्यों ने सोमवार को अभद्रता की। आठ वर्षीय लड़की को न्याय दिलाने वाले जम्मू- कश्मीर सीआईडी के वकील हरमिंदर सिंह और भूपिंदर सिंह से सजा पाए लोगों को परिजनों ने अभद्र भाषा का प्रयोग किया। पठानकोट जिला एवं सत्र अदालत कक्ष से बाहर निकलते ही उनके खिलाफ अभद्र टिप्पणी की गई। पंजाब पुलिस ने भीड़ को हटाकर उनको सुरक्षित बाहर निकाला।

जानें इस मामले पर किसने दिया क्या बयान:

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि कठुआ बलात्कार एवं हत्या मामले में आरोपियों को दोषी ठहराए जाने से उम्मीद बंधी है कि ऐसी क्रूरता करने वाले सजा से नहीं बचेंगे।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि कठुआ फैसले से राहत मिली है। इसका श्रेय अपराध शाखा टीम को जाता है, जिन्होंने अड़चनों के बावजूद सच्चाई का सामने आना सुनिश्चित किया।

पूर्व मुख्यमंत्री जम्मू-कश्मीर उमर अब्दुल्ला ने कहा कि दोषी कानून के तहत सबसे कड़ी सजा के हकदार हैं। जिन नेताओं ने आरोपियों का बचाव किया, पीड़ित को अपमानित किया और कानून व्यवस्था को डराया-धमकाया उनकी निंदा करने के लिए पर्याप्त अल्फाज नहीं हैं।
अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने कहा कि कठुआ गैंगरेप एवं हत्या मामले में अदालत के फैसले का स्वागत करते हैं। मैं दोषियों को कड़ी सजा की उम्मीद करता हूं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कठुआ में नाबालिग लड़की से सामूहिक बलात्कार और उसकी हत्या मामले में अदालत के फैसले का स्वागत करता हूं। आरोपियों पर कोई रहम नहीं किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY