Lok Sabha Election 2019: काशी में बोलीं सुभाष स्वराज, आखिरी चरण का मतदान भाजपा को प्रचंड बहुमत देगा

lok-sabha-election/story-lok-sabha-elections-2019-subhash-swaraj-speaks-in-kashi-the-last-phase-of-polling-will-give-a-huge-majority-to-the-bjp

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पांच साल में पांच कसौटियों पर खरा उतरने से लेकर देश व लोकहित में बड़े फैसले लेने के पीछे 2014 के चुनाव में प्रचंड बहुमत को कारण बताया। पांच साल में राष्ट्र व लोकहित की उपलब्धियों को बताते हुए कहा कि अब तक के छह चरणों के चुनाव में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिल रहा है। सातवें चरण का मतदान भाजपा को प्रचंड बहुमत दिलाएगा।

चौकाघाट स्थित सांस्कृतिक संकुल में भाजपा के मातृशक्ति समागम में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रतिनिधि के तौर पर मोदी सरकार की पांच साल में पांच क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धियों को सामने रखा। इसे मोदी सरकार का रिपोर्ट कार्ड बताया। राष्ट्रीय सुरक्षा, वैश्विक स्तर पर सरकार की सफलता, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था, राष्ट्रीय विकास और लोककल्याण स्तर पर सरकार की उपलब्धियां गिनाईं।

पांच क्षेत्रों में उपलब्धियों के आधार पर कांग्रेस को घेरा

वाराणसी। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि साल 2008 में मुंबई आतंक हमले में मारे गये लोगों में 40 दूसरे 14 देशों के थे। तब कांग्रेस सरकार इसे अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाकर पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग कर सकती थी, लेकिन विफल रही। इसके उलट मोदी सरकार ने उरी व पुलवामा हमले का बदला सर्जिकल व एयर स्ट्राइक से लिया। वैश्विक स्तर पर पाकिस्तान को अलग-थलग किया। अबूधाबी में ऑर्गनाइजेशन आफ इस्लामिक स्टेट के सम्मेलन में पाकिस्तान के विरोध के बावजूद भारत को बुलाया गया। मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कराया गया।

वैश्विक स्तर पर पहली बार विदेश दौरों पर भारतीय लोगों की रैलियां हुईं, इसमें नरेंद्र मोदी उनसे मुखातिब हुए। इससे दूसरे देशों में हमारे लोगों व देश का मान बढ़ा। साथ ही अब भारतीय दूतावास वहां के लोगों के दोस्त के तौर पर काम करता है। पांच साल में महज एक ट्वीट पर विदेश मंत्रालय बाहर फंसे ढाई लाख लोगों को निकाल लाया। अर्थव्यवस्था पर कहा कि 2014 में विश्व में पांच सबसे चरमारती अर्थव्यवस्था में से एक भारत की थी। अब सबसे तेजी से बढ़ने वाली छठी अर्थव्यवस्था है। भारत 142वें से 77वें स्थान पर पहुंच गया है।

कहाकि 2014 के पहले देश में 40 फीसदी घरों तक शौचालय था, आज 98 फीसदी घरों में है। 12 करोड़ रसोई गैस कनेक्शन थे, पांच साल में ही 13 करोड़ नये कनेक्शन दिये, साथ ही छह करोड़ मुफ्त कनेक्शन दिये गये। पहले एनएच निर्माण की गति 12 किमी प्रतिदिन थी, अब 29 किलोमीटर है। पहले ग्रामीण सड़कों के निर्माण की रफ्तार 69 किमी प्रतिदिन था, आज 134 किमी है। पहले 59 ग्राम पंचायतों तक ऑप्टिकल फाइबर था, अब एक लाख 16 हजार गांवों तक। पहले देश में 2 मोबाइल फोन फैक्टरी थी, अब 127 हैं। पासपोर्ट आफिस, एम्स, औषधि केंद्र, आईआईट व नये मेडिकल कॉलेज से लेकर अन्य सुविधाएं बढ़ीं। कहा कि मोदी सरकार ने अन्य किसी वर्ग के आरक्षण को प्रभावित करते हुए सवर्ण गरीबों को भी 10 फीसदी आरक्षण का प्रावधान किया। मध्यम वर्ग को पांच लाख रुपये तक इनकम टैक्स में छूट मिली। अनुसूचित वर्ग के सम्मान में कुंभ में पीएम ने उनके पांव धोए। अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए 850 एकलव्य स्कूल खोले गये। अल्पसंख्यक वर्ग के लिए महज तीन मिनट में हज का कोटा 25 हजार बढ़वा दिया गया।

सुबह मतदान के लिए सभी निकलें, जीत का देश में रिकार्ड कायम करें
विदेश मंत्री ने कहा कि भाजपा को प्रचंड बहुमत दिलाने में वाराणसी का बड़ा योगदान होगा। वाराणसी के लोग अपना सांसद नहीं, बल्कि एक पीएम चुन रहे हैं।

महिलाओं को सम्मान केवल भाजपा में

सुषमा स्वराज ने कहा कि केवल भाजपा में महिलाओं का सम्मान व सुरक्षा है। साथ ही योग्यता के आधार पर उन्हें जिम्मेदारी भी दी जाती है। कहा कि अब तक की मोदी सरकार ही ऐसी अकेली सरकार है, जिसमें छह महिला कैबिनेट मंत्री हैं। कैबिनेट कमेटी आफ सेक्योरिटी में दो मंत्री हैं।

LEAVE A REPLY