CBSE 10th result 2019: cbseresults.nic.in पर करें चेक, बेटियों ने मारी बाजी

CBSE 10th Result 2019, CBSE 10th results 2019 Declared, CBSE 10th Toppers List, CBSE result 2019, cbse.nic.in, cbseresults.nic.in, Central Board of Secondary Education, exam result, cbse.nic.in,सीबीएसई रिजल्ट 2019, सीबीएसई बोर्ड रिजल्ट 2019 घोषित, सीबीएसई बोर्ड 10वीं रिजल्ट, सीबीएसई 10थ रिजल्ट 2019, सीबीएसई रिजल्ट 2019, सीबीएसई10थ रिजल्ट 2019, कक्षा 10थ रिजल्ट, सीबीएसई रिजल्ट 2019 डेट, रिजल्ट 2019, सीबीएसई रिजल्ट अपडेट, सीबीएसई वेबसाइट

CBSE 10th result 2019 LIVE UPDATES: केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने सोमवार दोपहर को सीबीएसई 10वीं रिजल्ट 2019 ( CBSE 10th Result 2019) घोषित कर दिया। सीबीएसई (CBSE) 10वीं की परीक्षाएं देने वाले स्टूडेंट्स अपने सीबीएसई 10वीं रिजल्ट 2019 (CBSE 10th result 2019) बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in पर चेक कर सकते हैं।

सीबीएसई 10वीं रिजल्ट 2019 में टॉपर कुल 13 हैं। इन्होंने 500 अंक में से 499 अंक हासिल किए हैं। वहीं, तिरुवनंतपुरम रीजन ने 12वीं की तरह 10वीं में भी टॉप किया है। तिरुवनंतपुरम का रिजल्ट 99.85 फीसदी रहा।

इस बार नतीजों में छात्राओं का दबदबा रहा है। साल 2019 के रिजल्ट में 92.45% छात्राओं ने सफलता हासिल की है। वहीं, छात्राओं का पास फीसदी 90.14% रहा है। पिछले साल छात्राओं का पास फीसदी 88.67 और छात्रों को 85.32% रहा था।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी को मिले 82% मार्क्स

सीबीएसई 10वीं के नतीजों में केंद्रीय मंत्री और अमेठी सीट से बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी की बेटी को 82% मार्क्स मिले हैं। यह जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट कर दी। स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर लिखा कि दसवीं के नतीजे आ चुके हैं। बेटी को 82% मार्क्‍स मिले। गर्व है कि चुनौतियों के बावजूद उसने अच्छा किया।

2 अप्रैल को घोषित किए गए 12वीं के नतीजे

सीबीएसई ने 2 अप्रैल को 12वीं के नतीजे घोषित कर दिए थे। रिजल्ट 83.4% रहा। पिछली कई बार की तरह इस बार भी लड़कियों ने बाजी मारी है। 79.40 प्रतिशत लड़कों की तुलना में 88.70 प्रतिशत लड़कियां उत्तीर्ण हुई हैं। इस साल बड़ी संख्या में लड़कियों ने टॉप करके इतिहास बनाया है। टॉप तीन में 23 विद्यार्थी हैं, जिनमें 16 लड़कियां हैं। इस बार के टॉपर ने संयुक्त स्थान हासिल कर सबको चौंकाया है। पहले स्थान पर संयुक्त रूप से दो विद्यार्थी सफल हुए। दोनों ही लड़कियां हैं। वहीं दूसरे नंबर भी सफल तीनों लड़कियां ही हैं। जबकि तीसरे नंबर पर कुल 18 विद्यार्थियों में से 11 लड़कियां हैं। सीबीएसई बोर्ड के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब तीसरे नंबर पर संयुक्त रूप से 18 छात्रों का कब्जा रहा है। इनमें से सात लड़के हैं।

LEAVE A REPLY